trendsofdiscover.com

यूपी में इन 6 गांव की 1200 हेक्टेयर जमीन का होगा अधिग्रहण, किसानों को मुआवजा के मिलेंगी ये सुविधाएं

Acquisition of land of 6 villages: डीएम एलए बच्चू सिंह के अनुसार नोएडा एयरपोर्ट के विस्तार के लिए अधिग्रहित की जा रही जमीन में से दयानतपुर गांव से 145.0131 हेक्टेयर, वीरमपुर से 54.6280 हेक्टेयर और मुढरह से 37.3060 हेक्टेयर जमीन शामिल है।
 | 
Acquisition of land of 6 villages

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के जेवर में स्थित नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का विस्तार तेजी से हो रहा है जिसमें 6 गांवों की कुल 1181.2793 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण (Acquisition of land) किया जा रहा है। जिला प्रशासन और यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (Yamuna Expressway Industrial Development Authority) ने इस खास परियोजना को समय पर पूरा करने के लिए युद्ध स्तर पर काम शुरू कर दिया है। 

विस्तार की प्रक्रिया के तहत दयानतपुर, वीरमपुर और मुढरह गांव के किसानों ने अपनी जमीन का अधिग्रहण करने के लिए जिला प्रशासन को सहमति दे दी है जिसके चलते 236.9471 हेक्टेयर जमीन अधिग्रहित हो चुकी है। इसके अलावा रन्हेरा, कुरैब, और करौली बांगर गांवों में भी अधिग्रहण की प्रक्रिया तेजी से चल रही है।

डीएम एलए बच्चू सिंह के अनुसार नोएडा एयरपोर्ट के विस्तार के लिए अधिग्रहित की जा रही जमीन में से दयानतपुर गांव से 145.0131 हेक्टेयर, वीरमपुर से 54.6280 हेक्टेयर और मुढरह से 37.3060 हेक्टेयर जमीन शामिल है। इस परियोजना का मुख्य उद्देश्य एयरपोर्ट के विस्तारीकरण के साथ-साथ आसपास के क्षेत्रों में भी विकास को बढ़ावा देना है।

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Noida International Airport) का विस्तार उत्तर प्रदेश और दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र के आर्थिक विकास के लिए महत्वपूर्ण साबित हो सकता है। इस परियोजना के तहत एयरपोर्ट के आसपास नई योजनाएं और परियोजनाएं विकसित की जाएंगी जिससे रोजगार के अवसर बढ़ेंगे और क्षेत्र में आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा। इसके अलावा इस परियोजना से क्षेत्रीय परिवहन नेटवर्क भी मजबूत होगा और यात्रियों को बेहतर सुविधाएं मिलेंगी।

किसानों को उचित मुआवजा

नोएडा एयरपोर्ट के विस्तारीकरण के लिए जमीन देने वाले किसानों को उचित मुआवजा के अलावा अतिरिक्त सुविधाएं भी दी जा रही हैं। जिला प्रशासन ने सुनिश्चित किया है कि किसानों को उनके जमीन के बदले उचित मूल्य मिले और उनकी आजीविका पर कोई विपरीत प्रभाव न पड़े। इसके अलावा किसानों के लिए विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ भी उपलब्ध कराया जा रहा है ताकि वे इस परिवर्तन के साथ समायोजित हो सकें।

उड़ानों का ट्रायल और शुरूआत

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट से उड़ानों का ट्रायल अक्टूबर या नवंबर 2024 में शुरू होने की संभावना है। एयरपोर्ट बनाने वाली कंपनी ने घोषणा की है कि दिसंबर 2024 में उड़ानें शुरू करने की योजना है। 

पहले यह योजना बनाई गई थी कि उड़ानें 29 सितंबर 2024 से शुरू होंगीलेकिन तकनीकी और अन्य कारणों से इस तिथि को आगे बढ़ाया गया है। अब कंपनी का लक्ष्य है कि अप्रैल 2025 तक उड़ानें पूरी तरह से शुरू हो सकें।

उत्तर प्रदेश सरकार ने इस परियोजना को समय पर पूरा करने के लिए व्यापक तैयारियां की हैं और इसका लक्ष्य है कि दिसंबर 2024 में एयरपोर्ट को किसी भी हाल में शुरू किया जाए चाहे इसके लिए घरेलू उड़ानें ही क्यों न शुरू करनी पड़े।

Latest News

You May Like