trendsofdiscover.com

हरियाणा के EPS पेंशन धारकों के लिए खुशखबरी! अब इन सेवानिवृत्त कर्मचारियों को भी मिलेगी पेंशन, जानें...

 
 | 
 पेंशन

Trends Of Discover, चंडीगढ़: शिवालिक विकास मंच के प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व अध्यक्ष शिवालिक विकास मंच, जो विभिन्न निगमों, निगमों, बोर्डों आदि से सेवानिवृत्त हजारों कर्मचारियों के वृद्धावस्था सम्मान भत्ते की बहाली के लिए संघर्ष कर रहे हैं, जिसे सरकार ने लगभग 10 वर्ष पहले बंद कर दिया था। सार्वजनिक क्षेत्र, जिसमें एचएमटी फैक्ट्री और बीसीडब्ल्यू सूरजपुर सीमेंट फैक्ट्री शामिल हैं। हरियाणा सरकार के चेयरमैन एडवोकेट विजय बंसल का संघर्ष अब सफल हो गया है। हरियाणा सरकार ने वर्ष 2024-25 के बजट में उपरोक्त सेवानिवृत्त कर्मचारियों को वृद्धावस्था पेंशन प्रदान करने का निर्णय लिया है 

अब कालका क्षेत्र के सभी सेवानिवृत्त एचएमटी कर्मचारी, बीसीडब्ल्यू सूरजपुर सीमेंट फैक्ट्री के पूर्व कर्मचारी, निगम और बोर्ड के पूर्व कर्मचारी अब वृद्धावस्था पेंशन के लिए आवेदन कर सकेंगे।

विजय बंसल ने कहा कि एचएमटी कर्मचारियों के कर्मचारी भविष्य निधि फंड में कटौती की गई और इसके बदले उन्हें पेंशन के रूप में 1.5 रुपये से लेकर 2,000 रुपये तक नाममात्र ब्याज मिला। इसके अलावा एचएमटी के कई कर्मचारी ऐसे हैं जिनके पास भविष्य निधि में पैसा नहीं था और उन्हें ईपीएफ से ब्याज नहीं मिल सका।

नहीं, उन्हें सरकारी वृद्धावस्था पेंशन नहीं मिल रही थी, वे गंभीर आर्थिक तंगी से गुजर रहे थे। एचएमटी के कई कर्मचारी अपनी पेंशन का इंतजार करते-करते मर चुके हैं। बुजुर्गों और बच्चों के लिए कोई रोजगार नहीं है.

विजय बंसल ने कहा कि उन्होंने उक्त कर्मचारियों की पेंशन बहाली के लिए कई बार मुख्यमंत्री के संबंधित विभागों के मंत्रियों और अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा है और वर्ष में अदालत में जनहित याचिका भी दायर की थी। आख़िरकार बुज़ुर्गों को उनका हक मिल गया।

एडवोकेट विजय बंसल ने कहा कि करीब 10 साल पहले राज्य सरकार ने शहीद प्रदेश के हजारों कर्मचारियों, विशेषकर कालका विधानसभा क्षेत्र सहित जिला पंचकुला में एचएमटी फैक्ट्री के सेवानिवृत्त कर्मचारियों को दी जाने वाली बुढ़ापा पेंशन बंद कर दी थी।

जबकि उक्त कर्मचारियों को कोई सरकारी या गैर सरकारी पेंशन नहीं मिलती, उन्हें वृद्धावस्था मानद भत्ता के लाभ से भी वंचित कर दिया गया है.

जबकि उक्त कर्मचारियों को ईपीएफ की आधी पेंशन 3,000 रुपये प्रति माह मिलती है. विजय बंसल ने कहा कि सरकार ने अब पेंशनभोगियों को लाभ देने के लिए वृद्धावस्था सम्मान भत्ता योजना में संशोधन करने का प्रस्ताव दिया है ताकि बुजुर्गों को लाभ मिल सके.

उन्हें सरकार से प्रति माह कुल 3,000 रुपये भत्ते के बराबर पेंशन और समय-समय पर संशोधित ईपीएफ पेंशन या वृद्धावस्था सम्मान भत्ता मिलता है। इस संशोधन से राज्य के हजारों बुजुर्गों को फायदा होगा.

Latest News

You May Like