trendsofdiscover.com

International News : भारत के हर देश मे हो रहे चर्चे, भारत ने खरीदे श्रीलंका के तीन Airport, अभी जाने पूरी डिटेल्स

पूरी दुनिया में भारत की चर्चा हो रही है। न सिर्फ इसकी चर्चा हो रही है बल्कि पूरी दुनिया इस वक्त भारत की बात कर रही है। दुनिया भर में अपना व्यापार बढ़ा रहे भारत ने पड़ोसी देश श्रीलंका में एक नहीं बल्कि तीन हवाई अड्डे खरीदे हैं, जो घाटे में चल रहे हैं। इसके अलावा, श्रीलंका ने अब अपना सबसे बड़ा ऊर्जा प्रोजेक्ट भारत को सौंप दिया है। आज पूरी दुनिया कह रही है कि भारत ने कमाल कर दिया.
 | 
International News , श्रीलंका के तीन Airport

Trends Of Discover, नई दिल्ली: हम आपको पहले ही बता चुके हैं कि भारत इस वक्त दुनिया भर में मशहूर हो रहा है। भारत ने पड़ोसी देश श्रीलंका में एक हवाई अड्डा खरीदा है। श्रीलंका के तीन हवाई अड्डों का संचालन अब भारतीय कंपनी करेगी। भारतीय कंपनियां श्रीलंका में निवेश को लेकर बेहद उत्साहित हैं।

इसीलिए अब एक बड़ी खबर आ रही है. श्रीलंका के तीन हवाई अड्डों का संचालन अब भारतीय कंपनियां करेंगी। भारतीय कंपनी श्रीलंका में सौर ऊर्जा संयंत्र और ईंधन टैंक भी संचालित करेगी। एक श्रीलंकाई कंपनी ने मुंबई में एक कार्यक्रम में यह घोषणा की। उन्होंने देशभर के लोगों को श्रीलंका में निवेश के लिए आमंत्रित किया है और कहा है कि श्रीलंका में भारत के सहयोग से निवेश के कई मौके बढ़े हैं.

भारत ने ले ली श्रीलंका की सबसे बड़ी एनर्जी डील

श्रीलंका का एयरपोर्ट खरीदने के बाद भारत ने एक और कमाल किया है. भारत ने श्रीलंका से बड़ी एनर्जी डील हासिल की है. श्रीलंका ने शुक्रवार को एक चीनी कंपनी के साथ ऊर्जा समझौता रद्द कर दिया। श्रीलंका ने अब इसका ठेका एक भारतीय कंपनी को दिया है।

सौदे के तहत, श्रीलंका में तीन सौर और पवन हाइब्रिड बिजली उत्पादन सुविधाओं का निर्माण किया जाना है। परियोजना को शुरू में एशियाई विकास बैंक (एडीबी) ऋण के माध्यम से वित्तपोषित किया गया था।

अब इसे भारत सरकार से 11 मिलियन डॉलर का अनुदान मिलता है। भारत सरकार ने इस डील पर चिंता जताई थी. इस कारण से, श्रीलंका ने दो साल पहले चीनी कंपनी के साथ अनुबंध को अस्थायी रूप से रद्द कर दिया था।

बेंगलुरु की कंपनी को ठेका मिला

भारत पिछले कुछ वर्षों में अपने पड़ोसियों में बढ़ते चीनी हस्तक्षेप से सावधान रहा है। भारत ने श्रीलंका में चीनी कंपनी को दिए गए कॉन्ट्रैक्ट पर आपत्ति जताई थी. भारतीय कंपनी को श्रीलंका में ऊर्जा सौदे का ठेका मिलने के बाद श्रीलंका में भारतीय दूतावास ने खुशी जताई है। दूतावास ने ट्वीट किया कि बेंगलुरु स्थित प्रसिद्ध भारतीय कंपनी यू-सोलर अब यह काम पूरा करेगी।

श्रीलंका में तीन सुविधाओं की संयुक्त नवीकरणीय ऊर्जा क्षमता 2,230 किलोवाट होगी। ये उत्तरी शहर जाफना के पास द्वीपों पर स्थित होंगे, जो भारत के दक्षिणी तट से बहुत दूर नहीं हैं। कोलंबो में भारतीय उच्चायोग की एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है, कि "हाइब्रिड परियोजना क्षमताओं को अनुकूलित करने के लिए सौर और पवन दोनों सहित ऊर्जा के विभिन्न रूपों को जोड़ती है।"

इस उपलब्धि को लेकर दुनिया भर में भारत के काम की चर्चा हो रही है. जिस तरह से भारत धीरे-धीरे श्रीलंका में अपना व्यापार बढ़ा रहा है, उससे साफ है कि रावण का देश माने जाने वाले श्रीलंका के पूरे व्यापार पर राम का देश भारत कब्ज़ा करने जा रहा है। साथ ही भारत के दुश्मन नंबर 1 चीन के सभी मंसूबे फेल होने वाले हैं.

Latest News

You May Like