trendsofdiscover.com

Ration Card New Rules: राशन कार्ड धारकों के लिए बड़ी खबर, गेहूं और चावल से जुड़े बदल जाएंगे ये पुराने नियम

 | 
Ration Card

Trends Of Discover, नई दिल्ली: देश के करोड़ों राशन कार्ड धारकों के लिए अच्छी खबर है। अब सिर्फ दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) ही नहीं बल्कि यूपी, बिहार, राजस्थान, पंजाब, एमपी, पश्चिम बंगाल, झारखंड और छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों में भी राशन वितरण (Ration distribution) में गड़बड़ी की शिकायत नहीं मिलेगी। 1 मार्च 2024 के बाद राशन कार्ड धारकों (Ration card holders) को वितरण में अनियमितता समेत अन्य समस्याओं से हमेशा के लिए छुटकारा मिल जाएगा. गांव-देहात में बैठे उपभोक्ताओं और दुकानदारों पर जिला मुख्यालय में बैठे अधिकारी नजर रखेंगे।

जिला आपूर्ति विभाग में बैठे अधिकारी हों या दिल्ली में बैठे अधिकारी, सभी अब पीडीएस दुकानों में घटतौली या घटतौली पर विशेष नजर रखेंगे. देशभर में ई-पॉश मशीनें लगाई जा रही हैं. अब गांव में बैठे लोगों को इस मशीन से ही राशन मिलना शुरू हो जाएगा। आपको यह भी जानकारी मिल जाएगी कि दुकानदार उपभोक्ता को कितना कम गेहूं और चावल दे रहा है।

1 मार्च 2024 से देशभर के करोड़ों राशन कार्ड धारकों को अब राज्यों के जिला आपूर्ति विभाग से शिकायत नहीं करनी पड़ेगी. देशभर के 80 करोड़ से ज्यादा राशन कार्ड धारकों को अब घटतौली की शिकायत नहीं करनी पड़ेगी. क्योंकि जिला आपूर्ति विभाग के अधिकारियों के साथ-साथ राज्यों और दिल्ली में बैठे अधिकारी भी राशन की माप में कोई गड़बड़ी नहीं होने देंगे.

अब कम राशन नहीं मिलेगा

देश के कई हिस्सों में उपभोक्ताओं से शिकायतें मिल रही थीं कि गेहूं और चावल कम वजन में दिया जा रहा है. कई अन्य जगहों से भी शिकायत मिल रही थी कि यहां महीनों से राशन नहीं दिया जा रहा है.

ऐसे में केंद्र सरकार के खाद्य एवं उपभोक्ता मामले मंत्रालय ने पीडीएस केंद्रों के लिए नई नीति बनाई है. अब राशन कार्ड से जुड़ी किसी भी शिकायत पर न सिर्फ तुरंत कार्रवाई होगी, बल्कि दुकानदार का लाइसेंस भी तुरंत रद्द कर दिया जाएगा.

कुल मिलाकर अगर दुकानदार आपको कम राशन देता है या कम वजन का सामान दे रहा है तो आप दिल्ली में बैठे-बैठे भी दुकानदार का लाइसेंस रद्द करवा सकते हैं। इस योजना के तहत एक व्यक्ति को तीन किलो गेहूं और दो किलो चावल मिल रहा है. अब इससे कम का राशन ई-पॉश मशीन के जरिए इलेक्ट्रिक कांटे पर नहीं तौला जाएगा।

अब मोदी सरकार भी ऑनलाइन राशन बांटने की व्यवस्था शुरू करने जा रही है. इसकी अधिकारी कार्यालय में बैठकर निगरानी भी कर सकेंगे। ई-पॉश मशीन से काफी हद तक घटतौली रुकेगी और नये सिस्टम से घटतौली की कोई गुंजाइश नहीं रहेगी.

Latest News

You May Like